विटामिन बी12 की कमी के लक्षण और उपाय

नर्वस सिस्टम प्रॉपर तरीके से काम करें, इसके लिए vitamin B12 काफी जरूरी माना जाता है। इसकी कमी से ब्रेन को गंभीर नुकसान पहुंच सकता है।विटामिन B12 बॉडी फैट को एनर्जी में बदलने का काम करता है। साथ ही यह डी.एन.ए और रेड ब्लड सेल्स को बनाने का काम करता है। यह बॉडी के हर हिस्से की नर्व्स को प्रोटीन की सप्लाई जैसे और भी काम करता है। बॉडी में इसकी कमी होने से कई बार व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। हम बता रहे हैं इसके संकेतों के बारे में।

जाने-माने अमेरिकी हेल्थ एक्सपर्ट Dr. Mercola ने हाल ही में भारत का टूर कर एक स्टडी की थी। इस स्टडी में यहां के 80 फीसदी वयस्कों में ऐसे विटामिन की कमी पाई गई जो लाइफ थ्रेटनिंग (जीवन के लिए खतरनाक) हो सकती है। यह विटामिन B 12 है जिसकी चर्चा आमतौर पर कम ही होती है।

विटामिन B12 की कमी का पता सालों नहीं चल पाता। जब चलता है तब तक काफी वक्त गुजर चुका होता है। फिर भी हम ऐसे कुछ संकेत बता रहे हैं जिन्हें पहचान कर अलर्ट हुआ जा सकता है

क्यों है इसकी कमी घातक?
नर्वस सिस्टम के लिए जरूरी :
नर्वस सिस्टम प्रॉपर तरीके से काम करें, इसके लिए विटामिन B12 काफी जरूरी माना जाता है। इसकी कमी से ब्रेन को गंभीर नुकसान पहुंच सकता है। यह आगे जाकर जल्दी मृत्यु का कारण भी बन सकता है। Dr. Mercola के अनुसार विटामिन B12 की कमी का पता सालों नहीं चल पाता। जब चलता है तब तक काफी वक्त गुजर चुका होता है। फिर भी हम ऐसे कुछ संकेत बता रहे हैं जिन्हें पहचान कर अलर्ट हुआ जा सकता है
क्‍या हो सकती है इस विटामिन की कमी से प्रॉब्‍लम
इस विटामिन की लंबे समय तक कमी होने पर एनीमिया, थकान, स्मृति ह्रास, मिजाज बिगड़ना, चिड़चिड़ापन, झुनझुनी या हाथ-पैरों में अकड़न, दृष्टि दोष, मुंह के छालों, कब्ज, दस्त, मस्तिष्क संबंधी बीमारियां और बांझपन जैसी की समस्याएं प्रकट हो सकती हैं. हालांकि, बी12 की कमी की भरपाई की जा सकती है.

रक्‍त कोशिकाएं नहीं हो सकती हैं विकसित
आईएमए के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा कि हर मिनट हमारा शरीर लाखों लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करता है. हालांकि, ये कोशिकाएं विटामिन बी12 के बिना विकसित नहीं हो पातीं, फलस्वरूप अनीमिया की शिकायत हो सकती है. ऐसे शिशुओं में विटामिन बी12 की कमी अक्सर हो जाती है, जो पूरी तरह से मां के दूध पर निर्भर करते हैं और किसी तरह का बाहरी पोषण नहीं लेते.



क्‍यों नहीं होता विटामिन बी12 का अवशोषण
उन्होंने कहा कि शाकाहारियों में अक्सर इसकी कमी रहती है. तनाव, भोजन करने की दोषपूर्ण आदतों, आनुवंशिक कारकों और आंतों के रोग जैसे क्रोहन रोग, के चलते बी12 का अवशोषण ठीक से नहीं हो पाता. प्राय: 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में खाद्य पदार्थो से इसे अवशोषित करने की क्षमता कम होती जाती है. पानी में घुलनशील विटामिन होने के कारण पानी का अपर्याप्त सेवन इसके अवशोषण को प्रभावित कर सकता है.”
कैसे पता चलेगा विटामिन बी12 की है कमी
डॉ. अग्रवाल ने बताया कि बी12 की कमी का पता रक्त के परीक्षण से चल सकता है, जैसे कि पूर्ण रक्त गणना (सीबीसी) और रक्त में विटामिन बी12 के स्तर के परीक्षण से. फोलेट (एक अन्य बी विटामिन) के स्तर को आमतौर पर संबंधित स्थिति के लिए जांचा जाता है, जिसे फोलेट की कमी वाला एनीमिया कहा जाता है.

 विटामिन B12 की कमी के कुछ लक्षण 

  • अक्सर थकन और कमजोरी का रहना
  • खून की कमी होना
  • हार्टबीट तेज़ रहना
  • साँस फूलने की प्रॉब्लम रहना
  • लगातार कब्ज़ की प्रॉब्लम रहना
  • वजन का तेजी से घटना
  • मेमोरी कमजोर होना
  • सिरदर्द की प्रॉब्लम रहना
  • लूज़ मोशन की शिकायत रहना
  • जोड़ो में दर्द की प्रॉब्लम रहना



विटामिन बी12 की कमी को दूर करने वाले फूड्स (प्रतिदिन 2.4 माइक्रोग्राम की जरुरत )

  • दूध (१ गिलास में .55 माइक्रोग्राम ) फुल फैट वाले दूध में vitamin B12 की काफी सारी मात्रा होती है। अगर आप मीट मछली आदि नहीं खाते हैं तो आपके लिये दूध एक अच्‍छा ऑपशन होगा।
  • दही (१ कटोरी में .75 माइक्रोग्राम ) दही में आपको बी-कॉम्‍पलेक्‍स विटामिन्‍स जैसे विटामिन बी2 और बी1 तथा बी12 भी मिलेंगे। लो फैट दही खाएं जिससे आपके शरीर को पूरा पोषण मिले और मोटापा भी ना बढ़े।
  • अंडा(१ अंडे में .39 माइक्रोग्राम ) अंडे के पीले भाग में काफी सारा विटामिन B12 पाया जाता है।
  • चिकन(१०० ग्राम चिकन में 1.11 माइक्रोग्राम )
  • फिश (१०० ग्राम फिश में .39 माइक्रोग्राम )
  • ओटमील-ब्रेकफास्‍ट में ओटमील खाने से ना केवल पोषण और विटामिन मिलता है बल्‍कि इसमें काफी मात्रा में विटामिन B12 भी होता है।
  • चीज़ आपको बाजार में बारह तरह की चीज़ मिलेंगी जिसमें vitamin B12 मौजूद होगा। लेकिन कॉटेज चीज़ में vitamin B12 की मात्रा काफी अधिक होती है।
  • सोया प्रोडक्‍ट सोया बीन, सोया दूध या टोफू आदि में vitamin B12 की अच्‍छी मात्रा पाई जाती है।




Source :

ndtv

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *